Breaking News

Ward Leonard method | motor voltage control method | speed control of DC motor

Motor voltage control method|
speed control of DC motor by ward Leonard method



इस विधि में motor armature पर उपयुक्त वोल्टेज को परिवर्तित करके L∝V  के अनुसार स्पीड कंट्रोल की जा सकती है



  इस method को दर्शाया गया है।

DC motor की की स्पीड कंट्रोलिंग की voltage control method सबसे उपयुक्त मित्र है इस विधि का प्रयोग वहां किया जाता है जहां zero speed से full speed तक अधिक सुग्राही speed controllingकी आवश्यकता होती है उपरोक्त कंट्रोलिंग समायोजन को मोटर M2 की स्पीड कंट्रोल करती है।
 मोटर M2 आर्मेचर के लिए विभिन्न वोल्टेज प्राप्त करने के लिए मोटर M1 तथा जनरेटर G का कपल किया जाता है जनरेटर G के साथ जुड़ी मोटर M1 उसके लिए प्राइम मूवर की तरफ वर्क करती है जनरेटर द्वारा उत्पन्न different different  वोल्टेजमोटर M2 पर अप्लाई की जाती है जिससे मोटर की स्पीड कंट्रोल की जाती है

SPEED REGULATION :-



No = No load speed of motor
Nf  = Full load speed of motor

इस विधि से मोटर को दोनों दिशाओं में चलाया जा सकता है यदि मोटर की दिशा बदलनी है reversing switch  की सहायता से जनरेटर से field current की direction भी change होती है।

Advantages:-

1.यह सबसे उत्तम विधि है क्योंकि इसके द्वारा दोनों दिशाओं में speed controlling  कर सकते हैं।
2.इस विधि के द्वारा समान वेग वृद्धि प्राप्त की जा सकती है।
3.अच्छा स्पीड रेगुलेशन प्राप्त होता है।

Disadvantages:-

1.ओवरऑल एफिशिएंसी कम होती है।
2.दो अतिरिक्त मशीन की आवश्यकता होती है।
3. यह विधि मांगी तथा कठिन होती है।

Uses:-

1.यह steel factory में यूज होता है।
2.यह coal minesमें भी यूज़ होता है।

Thanks for reading❤️
Please comment below 🔥

   Next topic↪️


No comments

Give Suggestions